Friday , January 18 2019
Breaking News

प्रधानमंत्री किसान सम्पदा योजना | Pradhanmantri Kisan SAMPADA Yojana in hindi

प्रधानमंत्री किसान सम्पदा योजना की शुरुआत विशेषता एवं लाभ | Pradhanmantri Kisan SAMPADA Yojana Start Features and Benefits in hindi

भारत सरकार इस समय कई तरह की योजनएं आम लोगों के फायदे के लिए ला रही हैं. देश के विभिन्न तबको के लोगो के लिए सरकार तरह तरह की नई योजनायें इस वजह से ला रही है कि समस्त देश एक साथ विकास मार्ग पर अग्रसर हो सके. देश का एक बहुत बड़ा हिस्सा आज भी खेती पर निर्भर करता है, अतः यहाँ के किसानों पर ध्यान देना भी एक बहुत बड़ा दायित्व है. सरकार किसानों के लिए भी कई योजनायें निकाल चुकी है, जिसमे से एक है किसान संपदा योजना. यहाँ पर इस योजना से सम्बंधित सभी विशेष बातों का वर्णन किया जा रहा है.

प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना की शुरुआत ( PM Kisan SAMPADA Yojana Start)

14 वें वित्तीय आयोग चक्र के साथ वर्ष 2016 -20 के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी ने नई केन्द्रीय क्षेत्र योजना – एसएएमपीएडीए (एग्रो – मरीन प्रोसेसिंग के लिए योजना और एग्रो प्रोसेसिंग क्लस्टर का विकास) के नाम से ‘प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना’ की मंजूरी दे दी है. इस योजना की शुरुआत इसी वर्ष यानि 2017 के अगस्त के महीने में की गई है. हालाँकि इससे पहले, सीसीईए ने मई 2017 में अपनी बैठक में एक ही आवंटन और अवधि के साथ नई केन्द्रीय क्षेत्र योजना संपदा को मंजूरी दे दी थी.

kisan sampada yojana

प्रधानमंत्री किसान सम्पदा योजना की विशेषताएं (PM Kisan SAMPADA Yojana Features in hindi)

यह योजना पूरी तरह से कृषि केन्द्रित योजना है, यहाँ पर इससे सम्बंधित कुछ विशेषताओं का वर्णन किया जा रहा है :

  • यह योजना कृषि और मरीन सम्बंधित प्रोडक्ट के विकास के लिए आरम्भ की गई है, यह स्कीम केंद्र सरकार के कैबिनेट द्वारा मन्ज़ूर कर ली गयी है, ताकि इन क्षेत्रों का विकास हो सके.
  • इस योजना के लिए सरकार ने कुल 6000 करोड़ रूपए का बजट तैयार किया है. इसके तहत इस पैसे से कुल 20 लाख किसानों को लाभ पहुंचाया जाएगा. वर्ष 2019 -20 के आस पास ऐसा अनुमान किया जा रहा है, कि लगभग 334 लाख मेट्रिक टन फसल इस योजना के अंतर्गत उगाई जाएगी.
  • भारत की आबादी बहुत अधिक है, इस आबादी के नियमित भरण पोषण के लिए खाद्य (food) प्रोसेसिंग पर ध्यान देना बहुत आवश्यक है. खाद्य प्रोसेसिंग का भारत के राष्ट्रीय स्तर के आय में भी एक बहुत बड़ी भूमिका है. भारत सरकार ने इसके अंतर्गत 100% एफ़डीआई लागू कर दिया है. यह योजना सरकार के इस क़दम के सफ़ल होने में भी बहुत बड़ी भूमिका निभाएगी.

प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना लागू करने के लिए सरकार द्वारा उठाये जा रहे क़दम (PM Kisan SAMPADA Yojana Steps Taken By Government)

यह योजना एक आवश्यक योजना है, जिसकी सफलता सरकार के लिए बहुत आवश्यक है. इस योजना को सफ़ल बनाने के लिए सरकार निम्लिखित क़दम उठा रही है.

  • इस योजना को विभिन्न स्थान पर लागू करने के लिए सरकार आवश्यक स्थानों पर नए इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करेगी. इस इंफ्रास्ट्रक्चर का प्रयोग ट्रांसपोर्ट आदि के लिए किया जाएगा.
  • इस योजना के अंतर्गत सप्लाई चैन का नियंत्रण नियमन पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा ताकि किसी तरह की धोखाधड़ी न हो सके.
  • सरकार खाद्य पदार्थों के संग्रह करने के लिए स्टोरेज प्लान भी बना रही है, ताकि संग्रह वैद्य रूप से हो सके. यह स्टोरेज प्लान इस तरह से होगी कि जमा किये गये अनाज को विभिन्न तरह के मौसमों में बचा कर रखा जा सके.
  • इस योजना के अंतर्गत देश भर में विभिन्न स्थानों पर अनाज पहुँचाने पर भी ध्यान दिया जायेगा. इसके लिए ऐसे क़दम उठाये जायेंगे कि अनाज के आयात निर्यात के दौरान कोई अनाज किसी तरह से कुप्रभावित न हो सके.

प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना से लाभ (PM Kisan SAMPADA Yojana Benefits)

इस योजना से लोगों को कई तरह से लाभ प्राप्त हो सकेगा, इन सभी लाभों का वर्णन नीचे किया जा रहा है.  

  • इस योजना के अंतर्गत सरकार आम लोगों के लिए रोज़गार की तैयारी भी करेगी. सरकार इस योजना के अंतर्गत कुल 5,30,000 नौकरियाँ जारी करेगी. इससे देश के एक बहुत बड़े हिस्से को रोजगार प्राप्त हो सकेगा. साथ ही ‘एग्रीकल्चर प्रोड्यूस प्रोसेसिंग यूनिट्स’ की स्थापना से और भी लोगों को और भी नौकरियां प्राप्त हो सकेंगी.
  • इस योजना के अंतर्गत किसानों को वे सभी सुविधायें दी जाने की कोशिश है, जो कि कृषि शिल्प को और भी बेहतर बनायेगा.
  • इस योजना के अंतर्गत फूड प्रोसेसिंग के लिए नए नए उपकरणों का प्रयोग किया जा सकेगा ताकि यह योजना और भी सफ़ल हो सके और किसान इसका लाभ उठा सकें.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *