फसल ऋण मोचन योजना उत्तरप्रदेश किसान कर्ज माफ़ी | Fasal Rin Mochan Yojana UP Kisan Karj Mafi in hindi

फसल ऋण मोचन योजना उत्तरप्रदेश किसान कर्ज माफ़ी | Fasal Rin Mochan Yojana UP Kisan Karj Mafi in hindi

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के द्वारा जुलाई 2017 में फसल ऋण मोचन योजना शुरू की गयी है, मुख्य मंत्री बनने के बाद यह उनके द्वारा लॉन्च की गयी पहली योजना है, इस योजना के तहत लगभग 86 लाख किसानों को ऋण से मुक्ति मिलने की संभावना है. इस योजना से ऋण माफ़ी मिलने के साथ ही ऋण माफ़ी प्रमाण पत्र भी प्रदान किया जायेगा. उत्तर प्रदेश में फ़सल ऋण मोचन योजना को जिलावार रूप से लागु किया जायेगा और जिलाधिकारी के माध्यम से इस योजना के कार्यन्वयन की निगरानी होगी.  

फसल ऋण मोचन योजना के तहत योग्यता और नियम (Fasal Rin Mochan Yojana Eligibility)

  • नागरिकता : इस योजना के तहत वैसे किसानों को ही लाभ मिल सकता है जो उत्तर प्रदेध के स्थायी निवासी है.
  • ऋण लेने का समय समय : इस योजना के तहत जो किसान 31 मार्च 2016 से पहले ऋण लिए हुए है उन्ही के ऋणों को माफ़ किया जायेगा. इस तारीख के बाद जो भी ऋण किसानों ने लिए है वो ऋण इस योजना के अंतर्गत माफ़ करने योग्य नहीं माना जायेगा.
  • ऋण की सीमा : इस योजना में वैसे किसानों को ही राहत मिल पायेगी जिन्होंने 1 लाख तक का ऋण लिया है, जिन्होंने 1 लाख से अधिक का ऋण लिया है वो इस फसल ऋण मोचन योजना का लाभ नहीं उठा सकते.
  • जमीन का आकार : इस योजना के तहत वैसे किसानों की कर्ज माफ़ी की जाएगी जिनकी जमीन का आकार 2 हेक्टेयर से कम हो और उनकी जमीन जिस पर ऋण लिया गया है वह उत्तर प्रदेश राज्य के अंतर्गत ही होनी चाहिए.

fasal rin mochan yojana

फ़सल ऋण मोचन योजना की प्रमुख विशेषतायें (Fasal Rin Mochan Yojana Features)

  • योगी आदित्यनाथ की सरकार ने चुनाव से पहले जनता से जो वादे किये थे, जीतने और सरकार बनाने के बाद उन पर अम्ल करने की कोशिश कर रहे है. किसानो के कर्ज माफ़ी के वादे को आधिकारिक रूप से इस योजना के माध्यम पूरा कर रही है. 
  • इस योजना की जानकारी के लिए ऑनलाइन पोर्टल की व्यवस्था की गयी है जिससे किसानों की इस योजना के बारे में जो भी जिज्ञासा है उनका निराकरण हो सके. जो किसान ऋण माफ़ी की सारी योग्यता को पूरा कर लेते है वो ऑनलाइन माध्यम से भी इस योजना का लाभ उठाने के लिए रजिस्टर कर सकते है.
  • इस योजना का संचालन जिला स्तर पर किया जायेगा, ऐसा निर्णय मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारीयों के साथ बैठक करने के बाद लिया. प्रत्येक जिले के अंतर्गत जो तहसील है वह एक कंट्रोल रूम बनाया जायेगा और इसके अंतर्गत इस योजना का संचालन किया जायेगा.
  • इस योजना के नियम के तहत 17 अगस्त तक सभी किसानों की समस्याओं का निराकरण कर इस योजना का लाभ देने की कोशिश की जाएगी.
  • किसानों के लिए हेल्पलाइन नंबर की भी व्यवस्था की गयी है जिससे कि वह बिना किसी बाधा के सीधे तौर पर बात कर अपनी समस्या का निराकरण कर सके. लोन, जमीन या किसी भी तरह के सवालों का जवाब उन्हें आसानी से प्राप्त हो सके. योजना से जुडी किसी भी जानकारी को वो हासिल कर सके.

फसल ऋण मोचन योजना के लाभ के लिए आवश्यक दस्तावेज़ (Fasal Rin Mochan Yojana Required Documents)  

इस योजना के लाभ के लिए दो दस्तावेज़ मुख्य है –

  • आधार कार्ड : किसान ऋण मोचन योजना के तहत आधार कार्ड बहुत जरुरी है क्योकि किसान का बैंक खाता आधार से लिंक होना जरुरी है. जिस भी किसान के पास बैंक खाता है और आधार नहीं है, जिलाधिकारी द्वारा उनके लिए तहसील में ऑफिस की व्यवस्था की गयी है. जहां से वे अपना आधार बनवा सकते है ये सेवा किसानो को मुफ़्त में दी जाएगी इसके लिए किसी भी तरह के पैसे का भुगतान नहीं करना होगा. 

आधार कार्ड बनवाने में सहायक नंबर : जिनके पास आधार नहीं है उन किसानों के लिए आधार केंद्र ऑपरेटर के नाम और नंबर को जारी किया गया है, जो आधार कार्ड को मुफ्त में बना कर किसानों की मदद करेंगे. उनके नाम और नंबर का विवरण निम्नवत है- 

क्रम संख्या नाम नंबर
1.अंतेश सिंह9759572014
2.अमित शर्मा9319856160
3.अवधेश सिंह9758753350
4.भरत सिंह8057773611
5.धर्वेन्द्र कुमार8923055100
6.गिरिराज किशोर9411488282
7.जीतेन्द्र कुमार9759902102
8.कपिल कुमार9712012373
9.ललित प्रताप8954429456
10.मोहन सिंह8439334664
11.मनोज अग्रवाल8449581700
12.मोमिन खान9720304428
13.नविन गौतम9259400001
14.प्रमोद कुमार9458451778
15.पवन कुमार9634705610
16.राहुल9410881188
17.सौरव पालीवाल9258737871
18.साजिद अली8445427199
  • किसान के जमीन का दस्तावेज : इसके अलावा बैक में किसान का एक खाता और उससे जुड़ी जानकारी होनी आवश्यक है.

फसल ऋण मोचन योजना में रजिस्ट्रेशन या आवेदन का तरीका (How to Register For Fasal Rin Mochan Yojana in hindi)

  • इच्छुक किसान खुद को पंजीकृत करके ऋण छुट का लाभ उठा सकते है. जो भी किसान इस योजना का लाभ लेना चाहते है या जो इसके योग्य है वो इस लिंक http://upkisankarjrahat.upsdc.gov.in/#sec2 पर क्लिक कर इस वेबसाइट में लॉग इन करे. अगर आप पहले से ही इसमें सदस्य है तो आप सीधे तौर पर अपने आईडी और पासवर्ड को डाल कर लॉग इन कर सकते है.
  • जो किसान सदस्य नहीं है और वो अपने आपको नए रूप से पंजीकृत करना चाहते है उन्हें अपने से सम्बंधित जानकारी को इस वेबसाइट में डाल कर साइन अप करना होगा. साइन अप होने के बाद ऋण माफ़ी के लिए रजिस्ट्रेशन या पंजीकरण फॉर्म को भरना होगा.
  • इस पंजीकरण फॉर्म में आपको नाम, पता या संपर्क से सम्बंधित जानकारी, आधार संख्या, उम्र, बैंक खाता और जमीन तथा ऋण से संबंधित जानकारियों को भरना होगा. उसके बाद आप इस पंजीकरण फॉर्म को जमा कर देंगे.  

फ़सल ऋण मोचन योजना से सम्बंधित जानकारी के लिए सरकार द्वारा उपलब्ध कराये गए नंबर और वेबसाइट (Fasal Rin Mochan Yojana Helpline Number)

इस योजना से जुडी किसी भी समस्या या जानकारी के लिए आप टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर से संपर्क कर सकते है जो कि आधिकारिक रूप से राज्य सरकार ने इस योजना के बारे में किसी भी तरह के विवरण को प्राप्त करने के लिए जारी की है जो निम्नलिखित है –

  • नोडल अधिकारी का नम्बर है- 9235209436
  • जिला मुख्य अधिकारी का नंबर है – 9412626279

फ़सल ऋण मोचन योजना के लिए बजट (Fasal Rin Mochan Yojana Budget)

अभी तक सरकार द्वारा इस योजना के लिए कोई बजट सीमा की घोषणा नहीं की गयी है. हालाँकि इस वित्त वर्ष के बजट में योगी सरकार ने किसानों के लिए ऋण माफी के लिए 36000 करोड़ रूपये वितरित करने का प्रावधान रखा हैं, बजट में ऋण माफी प्रस्ताव को मंजूरी भी मिल गयी है. फ़सल ऋण मोचन योजना के तहत पहले चरण में 7500 योग्य किसानों को प्रमाण पत्र जारी किया जायेगा तथा दुसरे और तीसरे चरण में जो किसान आधार कार्ड नहीं होने की वजह से या किसी अन्य कारन से छुट जायेंगे वैसे किसानों को इस योजना के तहत लाभ प्रदान किया जायेगा.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *