दीनदयाल उपध्याय स्वावलंबन योजना | Deen Dayal Upadhyaya Swavalamban Yojana in hindi

दीनदयाल उपध्याय स्वावलंबन योजना | Deen Dayal Upadhyaya Swavalamban Yojana in hindi

दीनदयाल उपध्याय स्वावलंबन योजना | Deen Dayal Upadhyaya Swavalamban Yojana in hindi

अरुणाचल प्रदेश की सरकार ने अपने राज्य में एक अतिलक्ष्यपूर्ण योजना की शुरुआत की है. इस योजना की सहायता से सरकार अपने राज्य के लोगों के लिए तरह तरह के अवसर लाएगी. इस योजना की सहायता से राज्य के नए इंटरप्रेन्योर को सहायता प्रदान किया जाएगा. यहाँ पर इस योजना से संबंधित समस्त बातों का वर्णन किया जाएगा.

स्वावलंबन योजना की लॉन्च डिटेल (Swavalamban Yojana Launch Date)

इस योजना का आरम्भ अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रेम खाटू के हाथ से हुआ. उन्होंने इस योजना का आरम्भ राज्य के स्वरोज़गार वाले लोगों को देखते हुए किया. इस योजना के अंतर्गत सरकार राज्य के युवाओं को आर्थिक सहयोग प्रदान करेगी. इस योजना के लॉन्च के समय राज्य के मंत्रिमंडल के लगभग सभी सदस्य मौजूद थे. प्रेम खाटू ने इस योजना का आरम्भ 4 जुलाई 2017 को किया. दीनदयाल उपाध्याय स्वनियोजन योजना यहाँ पढ़ें.

swavalamban yojana

स्वावलंबन योजना की मुख्य विशेषताएँ (Swavalamban Yojana Features in hindi)

आंध्रप्रदेश सरकार दवारा चलाई जा रही इस योजना की कई विशेषताएँ हैं. यहाँ पर इस योजना सम्बंधित विशेषताओं का वर्णन किया जा रहा है.

  • इस योजना के अंतर्गत राज्य के उन सभी लोगों को सरकार द्वारा सहायता प्राप्त हो सकेगी, जो एक सेल्फ एम्प्लोई हैं.
  • इस योजना के अंतर्गत सरकार लोगों को लोन मुहैया कराएगी. इस योजना में सरकार लोगों को 10 लाख से 1 करोड रूपए तक का लोन देगी.
  • सरकार अपनी तरफ से इस लोन में सब्सिडी भी देगी. सरकार ने तय किया है कि इस योजना के अंतर्गत लोन लेने वाले लोगों को 30% की सब्सिडी देगी.
  • यह सब्सिडी सरकार नाबार्ड NABARD के हवाले से देगी.
  • इसके अलावा सरकार राज्य के उन लोगों को जो छोटे मोटे इंटरप्रेन्योर के है अर्थात खेती, मछली पालन, दूध का व्यवसाय आदि करते हैं, उन्हें भी आवश्यकता के अनुसार आर्थिक सहयोग दिया जाता है.
  • इस योजना की सहायता से कई लोगों को अपना व्यवसाय स्थापित करने में सहायता प्राप्त होगी और राज्य में बेरोज़गारी कम होगी.
  • कई ऐसे लोग पैसे की कमी की वजह से अपना व्यापार नहीं कर पा रहे उन्हें एक अवसर प्राप्त होगा, वहीँ दूसरी तरफ़ उन लोगो को अपना व्यापार बढाने में सहायता प्राप्त होगी, जिनके पास पूँजी कम है.
  • इस योजना के अंतर्गत सरकार ने महिलाओं के लिए और भी बेहतर नियम बनाए हैं, ताकि राज्य की महिलाएँ भी इस योजना का लाभ उठायें और स्वावलंबी हो सकें.
  • जो महिलाएं इस योजना द्वारा इंटरप्रेन्योर के लिए लोन लेगी उन्हें लोन के ब्याज दर पर 5% की छूट प्राप्त होगी.
  • इस योजना का लाभ राज्य के बेरोजगार युवा भी उठा सकेंगे. इस तरह से बेरोजगारों के लिए यह योजना काफ़ी कारगर साबित होगी.

निष्कर्ष (Conclusion)

कई लोग ऐसे होते हैं, जिन्हें अपने करियर के सपने होते हैं. वे कहीं और नौकरी नहीं करना चाहते बल्कि अपना व्यापार आरम्भ करना चाहते हैं. ऐसे लोग अक्सर अवसर और पूंजी की वजह से अपने व्यापार नहीं शुरू कर पाते हैं. अतः सरकार द्वारा शुरू की गयी यह योजना ऐसे लोगों के लिए सपने पूरे करने का अवसर जैसा है. सरकार ने योजना को नाबार्ड से संलग्न कर रखा है, अतः लोगों को लोन लेने में काफ़ी आसानी होगी. साथ ही सरकार इन लोन पर ब्याज दर किसी अन्य आर्थिक संस्थानों से कम ही रखेगी. 

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment